• X

    ऐसी होनी चाहिए आपकी प्यारी बेटी की डाइट

    आज भी भारत के कई हिस्सों में बेटी के जन्म पर खुशी नहीं मनाई जाती है, पर वहीं कई लोग ऐसे भी हैं जो बेटी के जन्म पर जश्न मनाते हैं, घर में उत्सव जैसा माहौल बना लेते हैं. लड़की वो है जो एक बेटी, पत्नी, मां और सास बनती है. वह न केवल घर के काम बल्कि ऑफिस को भी मैनेज करती है. साथ ही बाहर के और भी कई काम उसे संभालने होते हैं. इसके बावजूद वो कभी अपने को थका हुआ महसूस न करे, ऐसे में जरूरत होती है राइट डाइट की. जिससे आगे चलकर उसे किसी तरह की शारीरिक रूप से कोई परेशानी न उठानी पड़े. यहां जानिए अपनी बेटी के खान-पान को कैसे आप मैनेज कर सकती हैं जिससे वो ताउम्र तंदुरुस्त रह सके.

    Teenage (13-19) जीवन का एक ऐसा पड़ाव होता है जिस समय लिए गए खान-पान का पूरा असर आगे चलकर बखूबी दिखता है. एक Teenager लड़की को अपने खाने में हर चीज शामिल करनी चाहिए. अलग-अलग तरह की फल और सब्जियां खाने में शामिल करना बेहद जरूरी होता है जो शरीर को भरपूर मात्रा में विटामिंस और मिंरल्स देते हैं.

    आप आज भी अपनी मम्मी, दादी और नानी के चेहरे पर चमक देखी होगी. वे आज भी फिट हैं और इसकी एकमात्र वजह है सही समय पर अच्छी मात्रा में पूरा पौष्टिक आहार लेना, हर तरह की चीजें अपनी डाइट में शामिल करना.

    Teenage में शरीर का मानसिक और शारीरिक विकास ज्यादा से ज्यादा होता है. इस समय बॉडी को हर तरह के न्यूट्रिएंट्स की आवश्यकता होती है जिससे कि वे आगे चलकर बिल्कुल फिट और हेल्दी रह सकें, बिना किसी शारीरिक परेशानी के अपना हर काम पूरा कर सके.

    इस दौरान लड़कियों में पीरियड्स भी शुरू हो जाते हैं जिसके चलते उन्हें कमजोरी और दर्द का सामना भी करना पड़ता है. पौष्टिक और संतुलित आहार लेना इन सभी परेशानियों से निजात दिलाता है. पौष्टिक और संतुलित आहार में हर तरह का खान-पान शामिल हो, शरीर को हर चीज जैसे कार्बोहाइड्रेट, फैट, प्रोटीन कैल्शियम जैसी जरूरी चीजें मिलनी चाहिए.

    कैल्शियम से हड्डियां मजबूत होती हैं. Teenage में लिया गया कैल्शियम 40 की उम्र के दौरान हड्डियों को कमजोर होने से बचाता है. दूध, पनीर , ब्रोकोली , चीज, योगर्ट , हरी सब्जियां आदि में भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है. दूध एक ऐसी चीज है जिसे न केवल किशोरावस्था में ही बल्कि हर समय पीना चाहिए. इसी के साथ पानी, जूस पीना भी एक अच्छी सेहत के लिए फायदेमंद है. पानी शरीर के अंदर के हर बुरे टॉक्सिंस को बाहर निकालता है. साथ ही बॉडी को फिट और एक्टिव रखने में मददगार साबित होता है.

    कई लड़कियां डाइट कॉन्शस होने की वजह से फैट वाली चीजें जैसे घी , मक्खन, नट्स आदि बिल्कुल नहीं खाती हैं, तो जैसा कि हमने बताया कि शरीर को हर चीज की जरूरत होती है, ऐसे में फैट वाली चीजें भी फायदा ही पहुंचाती हैं. ये बॉडी को एनर्जी देती हैं. हेल्दी स्किन, हेल्दी बाल और हार्मोन को नियंत्रित रखने में बहुत कारगर सिद्ध होती हैं.

    Dietary Guidelines for Americans 2010 के अनुसार आराम से जिंदगी जीने वाली Teenager लड़की को एक दिन में 1,600 से लेकर 1,800 कैलोरी लेनी चाहिए जबकि पूरे दिन एक्टिव रहने वाली Teenager लड़की को एक दिन में 2,200 से लेकर 2,400 कैलोरी की जरूरत होती है.

     

    क्‍या ये स्टोरी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए