• X

    हिंदी सुधार लीजिए, समोसे का असली नाम समोसा नहीं, सम्बोसा है

    हिंदी 1949 में संविधान द्वारा घोषित की गई भारत की राजभाषा है. 14 सितंबर हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है. पकवानगली में जानें ऐसी ही कई चीजों के बारे में जो भारत में तो बड़े चाव से खाई जाती हैं पर ये भारत की बिल्कुल भी नहीं हैं, लेकिन हिंदी में ये नाम हमारे जीवन में रच-बस गए हैं. जानिए क्या है इन खाने-पीने की चीजों का असली नाम और देश में किस नाम से अब फेमस हैं...

    समोसा
    समोसा हर भारतीय की पसंद है. चाय के साथ जब भी कुछ खाने का मन करता है तो सबसे पहले समोसे का नाम ही याद आता है. पर क्या आप जानते हैं कि समोसा भारत का नहीं बल्कि मध्य एशिया का है. जी हां, मध्य एशियाई देशों में इसे सोम्सा कहा जाता है. इसका असली नाम सम्बोसा है. (प्याज का समोसा)

    गुलाब जामुन
    गरम गरम गुलाब जामुन, नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है. हिंदी के दो शब्दों से जानी जाने वाली ये मिठाई 'गुलाब जामुन' Mediterranean and पर्शियन है. गुलाब जामुन का असल नाम है luqmat al qadi.
    (गुलाब जामुन का टेस्ट बढ़ाना है तो अपनाएं ये टिप्स
    )

    चाय
    चाय की तो बात ही अलग है. यह एक ऐसी चीज है जो इंसान का पूरा दिन बना देती है. गौर फरमाने वाली बात तो यह है कि हर नुक्कड़ में मिलने वाली चाय भारत की नहीं बल्कि चीन की है. चीन की मैंडरीन और कैंटनीज भाषा में इसे चा कहा जाता है.
    (इस तरीके से बनाएंगे चाय तो सब कहेंगे वाह!
    )

    दाल-भात
    जहां दाल चावल की बात आई, कोई न कर ही नहीं सकता है. यह एक ऐसी डिश है जिसे सभी बड़े चाव से खा लेते हैं, पर क्या आप जानते हैं कि भारत में बेहद पसंद की जाने वाली यह डिश इंडियन नहीं बल्कि नेपाल की है. (अरहर दाल तड़का)

    राजमा
    राजमा चावल उत्तरी भारत के क्षेत्रों में बहुत खाया जाता है. अब आप ये भी जान लें कि राजमा भी हमारे भारत का नहीं है, यह मेक्सिको से भारत आया है. राजमा को भिगोकर, उबालकर और फिर कुछ मसालों के साथ पकाना एक मेक्सिकन रेसिपी है.
    (बिना भिगोए इस तरह झटपट बनाएं राजमा
    )

    नान
    आपको ये जानकर हैरानी होगी कि रोटियों के लिस्ट आने वाला नान भी भारत का नहीं बल्कि अमेरिका और यूरोप का है. इन देशों में इसे चिकन टिक्का के साथ खाना बेहद पसंद किया जाता था. धीरे-धीरे मुगल काल में यह भारत आया और फिर यहां भी दाल और सब्जी के साथ खाया जाने लगा. (तवा नान)

    जलेबी
    क्यों मीठे में जलेबी का नाम सुनते ही इसे खाने को जी ललचाने लगता है न? जलेबी के बारे में भी आप ये जान लें कि यह भी भी भारत की नहीं मध्य एशिया की स्वीट डिश है. अलग-अलग एशियाई देशों में इसे अलग-अलग नाम से जाना जाता है जैसे zalabiya अरब में तो Zalibiya पर्शियन भाषा में.  (केसरिया जलेबी)

    अनानास
    पाइनएप्पल को हिंदी में अनानास कहा जाता है, और यह भी भारतीय नहीं बल्कि साउथ अमेरिकन शब्द है.
    (अनानास (Pineapple) की चटनी
    )

     

    क्‍या ये स्टोरी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए