• X

    गणगौर पर गौरी शंकर को चढ़ाएं ये प्रसाद, पूरी होगी मनोकामना

    गणगौर राजस्थान, मध्य प्रदेश का एक त्यौहार है जिसे चैत्र महीने के शुक्ल पक्ष की तीज को मनाया जाता है. इस दिन सभी महिलाएं शिवजी और पार्वती जी (गौरी) की पूजा करती हैं और प्रसाद में मीठे गुने बनाए जाते हैं.

    आवश्यक सामग्री

      आधा किलो मैदा
      आधा कप घी (मैदा गूंदने के लिए)
      पानी मैदा गूंदने के लिए
      घी तलने के लिए

      चाशनी बनाने के लिए:
      एक गिलास पानी
      एक कप चीनी
      एक छोटा चम्मच इलायची पाउडर

    विधि

    - सबसे पहले एक परात में मैदे में घी डालकर अच्छे से मिक्स कर ले.
    - फिर इसमें थोड़ा-थोड़ा कर पानी डालते हुए इसे अच्छे से गूंद लें.
    - गूंदे हुए मैदे की एक बड़ी सी लोई बनाकर इसकी मोटी रोटी बेल लें.
    - अब चाकू की मदद से इसे नमकपारे की तरह लंबाई में काट लें.
    - कटे हुए लंबे टुकड़ों को हाथ में लेकर उंगली पर लपेटते हुए गोलाकार में मोड़ें. इसी तरह से सारे गुने बना लें.    
    - एक ओर चाशनी बनाने के लिए धीमी आंच में एक पैन में पानी, चीनी डालकर उबालें.


    - तीन तार की चाशनी के तैयार होते ही आंच बंद कर दें. बंद करने से पहले इलायची पाउडर मिलाएं.
    - वहीं दूसरी ओर मीडियम आंच में एक पैन में घी गरम करने के लिए रखें.
    - घी के गरम होते ही सारे गुने डालकर सुनहरा होने तक तल लें.
    - जैसे ही गुने सुनहरे होते जाएं इन्हें एक-एक कर चाशनी में डाल दें.
    - कुछ देर तक अच्छी तरह से डूबोकर बाहर निकालें और एक प्लेट में रखते जाएं.  
    - तैयार है गणगौर का मुख्य प्रसाद मीठे गुने.
     
    क्‍या ये रेसिपी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें
    टैग्स

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए