• X

    व्रत वाले आलू बड़े बनाने की विधि

    आलू बड़े या वड़े का स्वाद काफी मजेदार लगता है. वैसे ये तो नमक, मिर्च और मसाले वाले होते हैं, लेकिन अगर व्रत के दौरान भी खाने के लिए बनाना हो तो कुट्टू के आटे के वड़े बनाए जा सकते हैं.

    एक नज़र

    • रेसिपी क्विज़ीन : इंडियन
    • समय : 15 से 30 मिनट
    • मील टाइप : वेज

    आवश्यक सामग्री

      1 कप कुट्टू का आटा
      4 उबले आलू
      जरूरत के हिसाब से तेल
      1/2 टीस्पून जीरा
      1/2 टीस्पून सौंफ
      2 हरी मिर्च, बारीक काट लें
      7-8 करी पत्ता
      1/2 टीस्पू काली मिर्च पाउडर
      2 टीस्पून सेंधा नमक
      1 टीस्पून नींबू का रस
      स्वादानुसार शक्कर
      2 चम्मच घी

    विधि

    - फलाहारी आलू बड़े बनाने के लिए सबसे पहले कड़ाही में घी डालकर मीडियम आंच पर रखें.

    - इसमें मिर्च, सौंफ, जीरा, करी पत्ते डालकर 1-2 मिनट तक घी में भून लें.

    - इसके बाद इसमें आलू को मैश करके डाल दें.

    - अच्छी तरह मिला लें. फिर इसमें काली मिर्च, नींबू का रस और थोड़ी-सी शक्कर डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लें.

    - आलू बड़े का भरावन तैयार है. इसे आंच से उतार कर ठंडा होने दें.

    - भरावन को दूसरे बर्तन में निकाल लें. कड़ाही को साफ कर लें.

    - साफ कड़ाही में तेल डालकर धीमी आंच पर रख दें. जब तक तेल गर्म हो रहा है तब तक घोल तैयार कर लें.

    - इसके लिए बर्तन में कुट्टू का आटा और थोड़ा-सा सेंधा नमक डालकर मिक्स कर लें.

    - फिर थोड़ा-थोड़ा करके पानी डालते जाएं और बढ़िया घोल तैयार कर लें. घोल न ज्यादा पतला और न ज्यादा गाढ़ा होना चाहिए.

    - अब आलू वाले मिश्रण से छोटी-छोटी लोइयां बना लें.

    - एक लोई लेकर इसे घोल में डुबोएं फिर तेल में छोड़ते जाएं. एक बार में 2-3 आलू बड़े ही तेल में डालें. ज्यादा डालेंगे तो ये एक-दूसरे से चिपक जाएंगे.

    - आलू बड़ों को बढ़िया तरीके से तलकर निकाल लीजिए.

    - इसी तरीके से बाकी लोइयों के आलू बड़े तल लें.

    - तैयार व्रत वाले फलाहारी आलू बड़ों को फलाहारी चटनी के साथ खाएं-खिलाएं.

    Photo- susrivirundhombal.blogspot.com

    क्‍या ये रेसिपी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें
    टैग्स

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए