• X

    घर पर ऐसे बनाइए व्रत स्पेशल कुट्टू का आटा


    विधि

    कुट्टू का आटा गेंहू के परिवार से नहीं होता है और इसे अनाज में नहीं गिना जाता है. यह एक फल से बनता है और अनाज का बेहतर विकल्प होने के साथ ही पौष्टिक तत्वों से भी भरपूर होता है. जिन्हें गेहूं से एलर्जी होती है उनके लिए इसका सेवन बेहतरीन विकल्प माना जाता है. कुट्टू के आटे में मैग्नीशियम, विटामिन B, आयरन, कैल्शियम, जिंक, कॉपर, मैग्नीज और फासफोरस भरपूर मात्रा में पाया जाता है.

    कुट्टू को चबाना आसान नहीं होता, इसलिए इसे छह घंटे पहले भिगोकर रखा जाता है, फिर इन्हें नर्म बनाने के लिए पकाया जाता है, ताकि आसानी से पच सके. इसमें ग्लूटन नहीं होता, इसलिए इसे बांधने के लिए आलू का प्रयोग किया जाता है.

    चूंकि इसे अनाज में नहीं गिना जाता है इसे व्रत में आसानी से खाया जा सकता है. व्रत में कुट्टू के आटे पूरियां, पराठे, पकौड़े, आदि खाए जाते हैं.

    ये है घर पर ही कुट्टू का आटा बनाने की विधि:

    आधा किलो कुट्टू गिरी
    50 ग्राम मखाने

    - मखानों को 1 मिनट के लिए माइक्रोवेव में भून लें या फिर सूखा ही रोस्ट करें.
    - इसके बाद मखानों को ठंडा जरूर कर लें. ठंडे होकर ये करारे हो जाते हैं.
    - अब कुट्टू गिरी को मखानों को एकसाथ मिक्सर जार में पीस लें.
    - तैयार है कुट्टू का आटा. 
    क्‍या ये रेसिपी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें
    टैग्स

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए