• X

    तो इसलिए व्रत में ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है कुट्टू का आटा

    बात जब भी व्रत की होती है तो सबसे पहले दिमाग में कुट्टू का आटा ही आता है. व्रत के दौरान इसका बहुत इस्तेमाल किया जाता है. इससे बनीं पूरियां, पराठे, पकौड़े, इडली आदि व्रत में खाए जाते हैं. इसके पीछे की वजह है कि यह गेंहू के परिवार से नहीं है और इसे अनाज में नहीं गिना जाता है.

    विधि

    बात जब भी व्रत की होती है तो सबसे पहले दिमाग में कुट्टू का आटा ही आता है. व्रत के दौरान इसका बहुत इस्तेमाल किया जाता है. इससे बनीं पूरियां, पराठे, पकौड़े, इडली आदि व्रत में खाए जाते हैं.

    इसके पीछे की वजह है कि यह गेंहू के परिवार से नहीं है और इसे अनाज में नहीं गिना जाता है. यह फल से बनता है और अनाज का बेहतर विकल्प होने के साथ पौष्टिक तत्वों भरपूर भी होता है. जिन्हें गेहूं से एलर्जी होती है उनके लिए इसका सेवन बेहतरीन विकल्प माना जाता है. यह मैग्नीशियम, विटामिन B, आयरन, कैल्शियम, जिंक, कॉपर, मैग्नीज और फासफोरस से भरपूर होता है.

    आपको यह जानकर हैरानी होगी कि कुट्टू का आटा भारतीय भोजन का हिस्सा नही है. जापान,रूस, यूकेरिन में इसका मुख्य रूप से इस्तेमाल किया जाता था. सबसे पहले कुट्टू के आटे की खेती दक्षिणपूर्व एशिया में लगभग 6000 ईसा पूर्व में की गई थी. वहां से फिर यह मध्य एशिया और तिब्बत, और फिर मध्य पूर्व और यूरोप में फैला.


    जानिए कुट्टू के आटे के सेवन के क्या हैं फायदे:
    - कुट्टू का आटा मिनरल्स और प्रोटीन से भरपूर होता है. इसमें मौजूद पोटैशियम शरीर में मौजूद एनर्जी का बेहतरीन तरीके से इस्तेमाल करता है.
    - इसके सेवन से ब्रेस्ट कैंसर से भी बचा सकता है.
    - ग्लूटेन फ्री होने की वजह से इसे हर कोई आसानी से खा सकता है.
    - कुट्टू का आटा फाइबर से भी भरपूर होता है. यह कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित रखता है.
    - एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर कुट्टू का आटा ब्लड प्रेशर सही रखने में मददगार है.
    - शुगर के पेशेंट्स के लिए भी बहुत फायदेमंद है कुट्टू का आटा. इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता है.

    क्‍या ये रेसिपी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें
    टैग्स

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए