• X

    चक्र के हिसाब से ऐसा होना चाहिए आपका खान-पान, होंगे ये फायदे

    कहते हैं कि चक्र शक्ति केंद्र या ऊर्जा की कुंडली है. चक्र मनुष्य को केवल बाहर से ही नहीं यानी यह मनुष्य का केवल बाहरी स्वास्थ्य ही नहीं बल्कि उसे अंदर से भी पवित्र बना देता है.
    मेडिटेशन से तो चक्र एक्टिव होते ही हैं पर साथ ही चक्र के अनुसार खाना खाने से भी दिल और दिमाग दोनों स्वस्थ रहता है, बाहरी और आंतरिक दोनों खुशी मिलती है.  

    - पहला चक्र रूट चक्र (मूलधारा) है जो रंग में लाल होता है. यह आपकी सारी ऊर्जा को धरती से जोड़ता है. इसलिए इस चक्र को सही रखने के लिए लाल रंग और धरती से जुड़ी  चीजें जैसे सेब, अनार, चुकंदर, आलू आदि खाने की सलाह दी जाती है.

    - दूसरा चक्र नारंगी रंग का होता है. यह चक्र बताता है कि आप कैसे अपनी पहचान बना रहे हैं. यह चक्र खुशी से जुड़ा हुआ है. पर यह चक्र हीन भावनाओं से बंध जाता है जिसके चलते थकान आदि का आभास होता है. ऐसे में नारंगी रंग की चीजें जैसे ऑरेंज, कद्दू और गाजर खाना चाहिए.

    - तीसरे चक्र का रंग पीला होता है. यह आपके अंदर के आत्मविश्वास, इच्छाशक्ति, आपकी पहचान, आपकी शक्ति आदि को दर्शाता है. पर चूंकि यह चक्र शर्म से बंध जाता है, ऐसे में पीली चीजों का सेवन करना चाहिए जैसे केला, कॉर्न, दाल, पीली शिमला मिर्च आदि.

    - चौथा चक्र हमे उदासी से बचाता है. इसका रंग हरा होता है. यह इंसान के अंदर अपने प्रति और साथ ही दूसरों के प्रति प्यार, कोमलता को जगाता है. पर उदासी इस चक्र को जगाने में बाधा का काम करती है. प्यार और कोमलता बरकरार रखने के लिए हरी सब्जियां, ब्रोकोली, हरी मटर आदि खाएं.

    - पांचवा चक्र गले से संबंध रखता है. इसका रंग नीला होता है. यह आपकी सच्चाई, बातें करने के तरीके से जुड़ा है. इसके मार्ग में आने वाली बाधा झूठ को दूर करने के लिए नीली चीजें जैसे ब्लूबेरी आदि खाएं.

    - छठा चक्र का रंग इंडिगो यानी जामुनी होता है. यह चक्र आपका दिमाग खोलने में आपकी मदद करता है. ऐसे में ब्लैकबेरी, प्लम, अंगूर आदि खाना फायदेमंद होता है.  

    - सातवां चक्र सबसे आखिरी चक्र होता है. इसका रंग सफेद या बैंगनी होता है. यह  चक्र खुशियां, अच्छी सेहत और बुद्द्धि का प्रतीक है. इसे बनाए रखने के लिए आपको बैंगनी या सफेद रंग की चीजों का सेवन करना चाहिए.  
    क्‍या ये स्टोरी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए