• X

    सावन सोमवार के व्रत में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?

    इस साल सावन का महीना 17 जुलाई शुरू होकर 15 अगस्त को खत्म होगा. सावन सोमवार के व्रत (sawan 2019) में अनाज नहीं खाया जाता है. साथ ही लहसुन-प्याज वाली चीजें भी नहीं खाने का प्रावधान है. अनाज न खाने के पीछे कोई खास कारण तो नहीं है, लेकिन इसे परंपरा से जोड़कर देखा जाता है.
    वहीं व्रत के दौरान खाली पेट भारी चीजें खाने से इससे नुकसान होने की संभावना रहती है. व्रत के दौरान फल, दूसरे तरह के अनाज वगैरह खाए जाते हैं. जबकि बारिश की वजह से दही और कुछ खास सब्जियां नहीं खायी जाती हैं. क्योंकि इसमें कीट-पतंग होने से यह नुकसान पहुंचा सकता है. sawan vrat में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? हम यहां बता रहे हैं.

    कैसा आटा या अनाज है बेहतर?
    कुट्टू का आटा: सावन सोमवार व्रत में कुट्टू का आटा ज्यादा इस्तेमाल होता है. इससे पराठा, पूड़ी, कचौड़ी, हलवा, रोटी, चीला और पकौड़े बनाए जा सकते हैं.
    सिंघाड़े का आटा: सिंघाड़े के आटे से पराठे, पकौड़े, हलवा, चीला और बर्फी बनाई जा सकती है.
    चौलाई: सोमवार के व्रत में चौलाई के दानों के लड्डू, चिक्की और पट्टी खाई जाती है. इसे भूनकर दूध के साथ उबालकर हेल्दी दलिया भी बनाई जा सकती है. वहीं इसके आटे से व्रत वाली पूड़ी, हलवा, पराठा भी बनाया जा सकता है.
    समा के चावल: समा के चावल की खिचड़ी, पुलाव, और खीर बनाई जा सकती है. इसके आटे से व्रत की इडली, उत्तपम, पूड़ी, ढोकला और डोसा बनाया जा सकता है.
    साबूदाना: व्रत में सबसे ज्यादा साबूदाने से बनी चीजें खाई जाती हैं. इसमें खिचड़ी, टिक्की, खीर तो बनती हैं लेकिन आप साबूदाना वड़ा या बड़ा बना सकते हैं. इसकी फलाहारी नमकीन भी बना सकते हैं.

    किस तरह के तेल-मसाले का इस्तेमाल होना चाहिए?
    व्रत में जीरा, सेंधा नमक, काली मिर्च, छोटी इलायची, लौंग, जायफल, अनारदाना, अदरक, अदरक, हरी मिर्च और धनिया का इस्तेमाल होता है. जबकि काला नमक और अमचूर पाउडर भी कुछ लोग व्रत वाले खाने में डालते हैं. इन तमाम मसालों से व्रत वाले खाने का स्वाद बढ़ जा सकता है. जबकि देसी घी, घर का बनाया मक्खन या फिर मूंगफली का तेल व्रत का खाना बनाने के लिए बढ़िया हो सकता है.

    कौन-कौन सी सब्जियां खाई जा सकती हैं?
    आलू: सूखे आलू, दही आलू, जीरे वाले आलू, आलू टमाटर की सब्जी, आलू चाट, आलू की टिक्की बढ़िया व्रत के पकवान हो सकते हैं.
    सीताफल या कद्दू: इसकी सब्जी, पकौड़े, हलवा के अलावा इसकी खीर भी बना सकते हैं. वहीं इसे टुकड़ों में काटकर उबालकर भी खाया जाता है.
    अरबी: सूखी अरबी, टिक्की, कटलेट के अलावा ग्रेवी वाली अरबी भी बना सकते हैं.
    जिमीकंद: इसकी चिप्स या सब्जी बनाई जा सकती है.
    कच्चा केला: सब्जी, चिप्स या फ्राइज, या टिक्की काफी लजीज लगती है.
    खीरा: सलाद या रायते के रूप में खा सकते हैं. इसका जूस भी पी सकते हैं.
    लौकी: सब्जी या हलवा और कोफ्ते बना सकते हैं.
    टमाटरः टमाटर की सब्जी या सलाद के रूप में खा सकते हैं. जबकि पालक और गाजर सब्जी या सूप व्रत के दौरान पिया जा सकता है.
    मौसमी फल : इस व्रत में मौसमी फल खाना चाहिए. लेकिन तरबूज या खरबूज न खाएं.

    सावन सोमवार के व्रत में क्या नहीं खाना चाहिए.
    सोमवार के व्रत में सात्विक भोजना की परंपरा चली आ रही है. साथ ही अनाज वाली चीजें नहीं खाई जाती हैं. लहसुन और प्याज, दालें, गेहूं, चावल, मैदा, बेसन, सूजी, शराब, नॉनवेज, कॉर्न, ओट्स, फ्लैक्ससीड्स, कॉफी, आइसक्रीम, हल्दी, हींग, सरसों, मेथी दाना, गरम मसाला, धनिया पाउडर, सरसों का तेल आदि चीजों से व्रत का खाना नहीं बनाना चाहिए.

     

    क्‍या ये स्टोरी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए