• X

    जानिए क्यों भगवान गणेश को चढ़ाते हैं मोदक, क्या है महत्व?

    गणेश चतुर्थी का यह शुभ त्योहार महाराष्ट्र, गोवा, केरल, मध्यप्रदेश और तमिलनाडु सहित कई राज्यों में बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. इस दौरान भगवान गणेश को अलग-अलग भोग और प्रसाद चढ़ाया जाता है.
    हिंदू कैलेंडर में ऐसा कोई महीना नहीं होता जिसमें कोई न कोई त्योहार न हो. भारत में हिंदू धर्म के अनुसार सभी भगवानों की पूजा की जाती है. इस तरह से गणेश चतुर्थी का त्योहार भी खास त्योहारों में से एक है. यह त्योहार 10 दिनों तक धूमधाम से मनाया जाता है. इस त्योहार को गणेशोत्सव या विनायक चतुर्थी भी कहा जाता है, पूरे भारत में भगवान गणेश के जन्मदिन के इस उत्सव को उनके भक्त उत्साह के साथ मनाते हैं. गणेशोत्सव पर्व के दौरान भगवान गणेश के भक्त अपने घरों में उनकी मूर्ति की स्थापना करते हैं और 10 दिन पूजा अर्चना करने के विर्सजन करते हैं. कई जगहों में सात दिन तक गणेश जी की पूजा होती है.
    (ये है पंजीरी और पंचामृत बनाने का सही तरीका)
    गणेश चतुर्थी का यह शुभ त्योहार महाराष्ट्र, गोवा, केरल, मध्यप्रदेश और तमिलनाडु सहित कई राज्यों में बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. इस दौरान भगवान गणेश को अलग-अलग भोग और प्रसाद चढ़ाया जाता है.

    बताया जाता है कि गजानन खाने के बेहद शौकीन थे. उन्हें कई तरह की मिठाइयां पसंद थीं. इसमें मोदक, बेसन के लड्डू, मोतीचूर के लड्डू, गुड़ और नारियल से बनी चीजें उन्हें प्रसाद या भोग में चढ़ाई जाती हैं. गणेश जी को मोदक काफी पंसद था. इसीलिए उन्हें मोदक का प्रसाद जरूर चढ़ाया जाता है. मोदक चावल के आटे, गुड़ और नारियल से बनाया जाता है. इस पूजा में गणपति को 21 लड्डुओं का भोग लगाने का भी विधान है.
    इस बार 13 सितंबर 2018 को गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जाएगा. इस अवसर पर श्रद्धालू गणेश जी मूर्ति अपनी श्रद्धानुसार 3, 5 या फिर 7 दिन तक घर में रखते हैं. इन दिनों गणेश जी की मूर्ति की पूजा की जाती है और उन्हें भोग लगाया जाता है. 
    (क्या आपने देखा है चॉकलेट गणेश का अनोखा रूप)
    क्‍या ये स्टोरी आपको पसंद आई?

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए