• X

    दुर्लभ है इसका मिलना, फायदेमंद है किडनी के लिए

    किडनी की बीमारी आज की तारीख में बहुत तेजी से बढ़ते चली जा रही है. यह एक गंभीर बीमारियों में से एक है. किडनी को ठीक करने के लिए या किडनी में हुई पथरी को निकालने के लिए जानकर देसी इलाज बताते हैं. लेकिन ऐसा फल है जिसे खाने से पथरी को जल्द से जल्द खत्म किया जा सकता है. इसका नाम गोखरू है.

    गोखरू को आयुर्वेदिक में औषधि माना गया है. यह एक जड़ी बूटी है जिसका प्रचीन समय से औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है. गोखरू के पत्ते, फल और इसका तना तीनों रूपो में उपयोग किया जाता है. गोखरू पथरी जैसी गंभीर बीमारियों में काफी फायदेमंद माना जाता है. गोखरू को कई नामों से जाना जाता है जैसे गोक्षुर, त्रिकंटक, क्षुरक, स्वादुकंटक, गोखरू काटा आदि. चलिए हम आपको बताते हैं कि गोखरू किडनी स्टोन में कैसे फायदा करता है.

    किडनी
    गोखरू किडनी की बीमारी के लिए बहुत लाभकारी होता है. आयुर्वेद में इसे किडनी के लिए सफल औषधि माना गया है. गोखरू का काढ़ा पथरी के लिए किसी रामबाण दवा से कम नहीं है. फल के साथ इसके जड़ का भी सेवन किया जा सकता है.

    - गोखरू के बीज को पानी में उबाल कर इसे छान कर रोजाना सुबह खाली पेट एक कप पीएं. रात को खाना खाने से एक घंटे पहले भी एक कप पीने में लाभ पहुंचाता है. इसे पीने के एक घंटे बाद ही कुछ खाना चाहिए.  इसके सेवन से आप किडनी में होने वाली पथरी से निजात पा सकते हैं. साथ ही यह डायलिसिस, किडनी ट्रांसप्‍लांट में फायदा करता है.

    पथरी
    गुर्दे में पथरी की बीमारी के लिए भी गोखरू काफी फायदेमंद होता है. इसके फलों के चूर्ण को शहद में मिलाकर सुबह और शाम लेना चाहिए. इससे पथरी टूट-टूट कर शरीर से बहार निकल जाएगी. साथ ही इसके चूरण को दूध में उबालकर इसे मिश्री के साथ लें.

    कुछ अन्य फायदे

    - गोखरू शरीर को मजबूत रखने में मदद करता है.
    - इसकी तासीर गर्म होती है. ठंड के मौसम में इसके सेवन से कई बीमारियों से छुटकारा पाय जा सकता है.
    - गोखरू गठियां, जोड़ों में दर्द की बीमारी में इसके सेवन से आराम मिलता है.
    - इसका काढ़ा पीने से पाचन शक्ति भी बढ़ती है.
    - गोखरू के काढ़े को घाव या जख्मों पर लगाने से घाव जल्दी भर जाते हैं.
    - गोखरू आखों के रोग के लिए भी अच्छा होता है. इसका ताजा रस आखों में लगाने से आंखों की बीमारियों में आराम मिलता है.
    - गोखरू खून को साफ रखने में भी मदद करता है.
    - इसके बीज के काढ़े को रात को सोने से पहले पीने से मूत्र रोग की समस्या दूर होती है. यूरीन अच्छे से पास होती है.

    नोट: बेशक गोखरू को एक औषधि के रूप में उपयोग किया जाता है. मगर इसे डॉक्टर की सलाह से ही सेवन करना चाहिए.
    क्‍या ये स्टोरी आपको पसंद आई?

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए