• X

    Ganga Dussehra 2019: किस राशि के जातक किन चीजों का करें दान और लगाएं भोग

    12 जून 2019 को गंगा दशहरा है. इस दिन गंगा की पूजा-आरती और भोग लगाने से मनवांछित लाभ मिलता है. ऐसी मान्यता है कि आज के दिन गंगा स्नान करने से सारे पाप धुल जाते हैं. साथ ही दान का भी लाभ मिलता है. इस शुभ अवसर पर जानिए किस राशि के जातकों को किन-किन चीजों का दान करना चाहिए. साथ ही वो कौन से उपाय हैं जिन्हें करके जातक दान-पुण्य का लाभ ले सकते हैं.

    आज इन चीजों का करें दान
    गंगा दशहरा के दिन दान-पुण्य को खास महत्व दिया जाता है. इस दिन उन वस्तुओं को दान में दिया जाता है जो शरीर को ठंडक पहुचाती हैं जैसे कि ठंडे फल, पंखा, मटका, सत्तू आदि. इस दान की खासियत यह है कि इसमें सभी की संख्या 10 होनी चाहिए. इस दिन घरों में सत्यनारायण भगवान की कथा सुनने से भी पुण्य मिलता है.

    मां गंगा को इन चीजों का लगाना चाहिए भोग
    गंगा दशहरा के दिन लोग गंगा के तीर्थ स्थानों पर डुबकी लगाते हैं जैसे कि प्रयागराज, गढ़मुक्तेश्वर, हरिद्वार, ऋषिकेश, वाराणसी आदि. इस दिन को खूब उच्छे से मनाया जाता है. इस दिन मेला भी लगता है. भक्त लोग लस्सी, शरबत, जलेबी, मालपुआ, खीर आदि चीजों का सेवन करके इस दिन को मनाते हैं. कुछ लोग पतंग उड़ाकर भी जश्न मनाते हैं. वहीं थाली में 10 फल, 10 दीपक और 10 सेर तिल का 'गंगायै नमः' कहकर गंगा में प्रवाहित करना चाहिए. साथ ही घी मिले हुए सत्तू और गुड़ के पिंड जल में अर्पित करने से पुण्य मिलता है.

    राशि अनुसार इन चीजों का करना चाहिए दान

    मेष राशि: इस राशि के जातक को गंगा स्नान के साथ-साथ काली तिल और गुड़ का दान करना चाहिए. इसके अलावा मंदिर में साबुत मूंग की दाल दान करने से जातक को धन लाभ मिलता है.

    वृष राशि: इस राशि के जातकों को स्नान करने के बाद गंगा मां की पूजा करनी चाहिए. आज के दिन तांबे के कलश में काला तिल, चावल और मिश्री रखकर दान देना चाहिए.

    मिथुन राशि: इस राशि के जातकों को इस दिन ब्राह्मणों को सत्तू का दान देना चाहिए साथ ही गरीबों को खाना खिलाना चाहिए. महिला जातकों को सुहाग की चीजें दान करनी चाहिए.

    कर्क राशि: गंगा दशहरा के दिन इस राशि के जातकों को जल से भरा घट यानी कलश के साथ-साथ फल दान करना चाहिए. साथ ही एक दोने में तिल और दीपक जलाकर गंगा नंदी में प्रवाहित करना चाहिए.

    सिंह राशि: इस राशि के जातकों को गंगा स्नान के बाद दान-पुण्य का लाभ लेना चाहिए. अगर गंगा स्नान नहीं कर पा रहे हैं तो घर में नहाने के पानी में गंगा जल डालकर स्नान करें. तांबे के कलश में सफेद तिल भरकर ब्राह्मण को दान करें. गरीबों का पेट भरें.

    कन्या राशि: इस राशि के जातकों इस दिन किसी शिव मंदिर के पुजारी को फलों का दान करना चाहिए. भविष्य को बेहतर बनाने के लिए नए कदम उठाना लाभदायी होगा. मां दुर्गा को लाल चुनरी चढ़ाने और गरीबों को दान देने से पुण्य मिल सकता है.

    तुला राशि: गंगा दशहरा के दिन इस राशि के जातकों को मां दुर्गा को मिश्री का भोग लगाना चाहिए. साथ ही खाने की चीजों के साथ-साथ चांदी की चीजें दान करने से फंसे काम भी पूरे हो जाएंगे.

    वृश्चिक राशि: गंगा दशहरे के दिन इस राशि के लोगों को धार्मिक किताबें दान करनी चाहिए. या फिर मंदिर में रखवानी चाहिए. साथ ही मंदिर में मिट्टी का घड़ा दान करने से सफलता मिल सकती है. दीन-दुखियों को भोजन कराने से भी लाभ मिलता है.

    धनु राशि: इस राशि के जातकों को मंदिर में फल दान करना चाहिए. साथ ही 7 तरह के धान दान करने से पुण्य मिलता है. इसके साथ-साथ रुद्राभिषेक कराने से लाभ मिलने की संभावना बढ़ जाती है.

    मकर राशि: इस राशि के जातकों को मां को दुर्गा को लौंग, इलायची का भोग लगाना चाहिए. ब्राह्मणों और गरीबों को नए वस्त्र दान करना ज्यादा फलदायी हो सकता है.

    कुंभ राशि: गंगा दशहरे के पावन अवरस पर इस राशि के जातकों को 8 तरह के दान के अलावा मक्का और जौ दान करना चाहिए. इस राशि के जातकों को आज उनकी मेहनत का फल मिल सकता है. दिन को शुभ बनाने के लिए ब्राह्मण के पैर छूकर आशीर्वाद लेने से आपसी रिश्ते मजबूत होंगे.

    मीन राशि: इस राशि के जातकों को आज के दिन किसी गरीब को भोजन कराने के साथ-साथ पक्षु-पक्षियों को दाना खिलाना चाहिए.

    अगर आप अपने आपको मजबूत बनाना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको गंगा दशहरा स्तोत्र में दी इन पंक्तियों का पांच बार पाठ करना करें. ॐ नमः शिवायै गङ्गायै शिवदायै नमो नमः।
    नमस्ते विष्णु रुपिण्यै, ब्रह्म मूर्त्यै नमोऽस्तु ते॥

    आज के दिन इन पंक्तियों का पाठ करने के साथ ही आपको शिवलिंग पर जल भी अर्पित करना चाहिए. गंगा दशहरा के दिन ऐसा करने से आपके अंदर बहुत-सी शक्तियों का संचार होगा और आप स्ट्रांग बनेंगे. यह उपाय सभी राशि वाले जातक कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह-स्थिति के अनुसार मिथुन राशि वालों के लिए सबसे ज्यादा फलदायी होता है.

    यह भी पढ़ें- गंगा दशहरा: ऐसे सजाएं मां गंगा की भोग थाली

    क्‍या ये स्टोरी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए