• X

    दाल फरे

    दाल फरे उत्तर भारत की एक ऐसी पारंपरिक डिश है जो आजकल कम बनाई जा रही है. धीरे-धीरे इसका स्वाद लोग भूलते जा रहे हैं. अगर आपको फरे पसंद हैं तो जानिए इन्हें बनाने की विधि जिसे शिखा गुप्ता ने भेजी है.

    एक नज़र

    • रेसिपी क्विज़ीन : इंडियन
    • कितने लोगों के लिए : 2 - 4
    • समय : 15 से 30 मिनट
    • कैलोरी : 150-200
    • मील टाइप : वेज

    आवश्यक सामग्री

      स्टफिंग बनाने के लिए
       डेढ़ कप चने की दाल
      2 हरी मिर्च बारीक कटी हुई
      4-5 लहसुन की कलियां
      1 छोटा चम्मच साबुत जीरा
      आधा छोटा चम्मच हल्दी
      1 बड़ा चम्मच बारीक कटी धनिया पत्ती
      नमक स्वादानुसार
      पानी जरूरत के अनुसार

      फरे बनाने के लिए
      2 कप चावल का आटा
      डेढ़ कप पानी
      1 छोटा चम्मच अजवाइन
      2 बड़ा चम्मच तेल
      चुटकीभर नमक

    विधि

    - दाल फरे बनाने के लिए सबसे पहले चने की दाल को 4 से 5 घंटे के लिए भिगोकर रख दें.
    - तय समय के बाद दाल का पानी निकालकर इसे स्टफिंग की सभी सामग्रियों के साथ मिक्स कर लें. (हेल्‍दी अक्‍की रोटी)
    - अब दाल को मिक्सी में डालकर पीस लें और फिर धनिया पत्ती मिला लें. पानी का कम ही डालें. ध्यान रखें कि पेस्ट ज्यादा पतला न हो.
    - धीमी आंच में एक पैन में पानी, नमक और अजवाइन डालकर उबालने के लिए रखें. (मध्यप्रदेश की शान है भुट्टे का कीस)
    - उबाल आते ही चावल का आटा डालें और तुरंत कड़छी से चलाते हुए आंच बंद कर दें.
    - आटे के ठंडे होने के बाद इसे गूंद लें और लोइयां बना लें. (ऐसे बनाएं स्वादिष्ट महेरी)
    - लोइयों को पूरी की तरह बेलकर इसमें भरावन भरकर इन्हें गुझिया की शेप में बना लें. (उत्तराखंड का बेहतरीन जायका है अरसा)
    - मीडियम आंच में स्टीमर में पानी डालकर गर्म होने के लिए रखें. (आगरा का पेठा)
    - स्टीमर प्लेट को चिकना कर लें और इस पर फरे रखें. फिर ढककर 8 से 10 मिनट तक पका लें.
    - तय समय बाद आंच बंद कर दें. गर्मागर्म दाल फरे तैयार हैं. आप इन्हें अपने मनचाहे शेप्स में काट सकते हैं.

    नोट:
    - आप चाहें तो फरे बनाने के लिए आटे में हींग, गरम मसाला और अदरक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

    क्‍या ये रेसिपी आपको पसंद आई?
    अपने दोस्‍त के साथ साझा करें
    टैग्स

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए