• X

    ऐसे करें अपने बच्चों के दांतों की देखभाल

    खाना चबा-चबाकर खाने की सलाह तो दी जाती है पर इसके लिए बहुत जरूरी है दांतों का स्वस्थ होना. दांत मजबूत रहेंगे तो आप और आपके बच्चे हर चीज आसानी से खा पाएंगे और उन्हें किसी तरह दांतों की प्रॉब्लम भी नहीं होगी. पर बच्चों के दांतों का ख्याल रखने के लिए आपको ये चीजें करनी पड़ेंगी.

    आइए डॉक्टर एस.के.सिंह (ECHS, Dental Surgeon) से जानते हैं कि आप कैसे रख सकते हैं अपने बच्चों के दांतों का ख्याल.

    खुद की डाइट रखें ऐसी

    बच्चे के दांतों की देखभाल तो उसके पैदा होने के पहले से ही शुरू हो जाती है. बच्चा जब पेट में 6 सप्ताह का होता तब से उसके दांतों के बनने की प्रकिया शुरू हो जाती है और 3 से 4 महीने तक Enamel का बनना भी शुरू हो जाता है. ऐसे में प्रेग्नेंट महिलाओं को जरूरत होती है कैल्शियम, फॉसफोरस और विटामिन D से भरपूर डाइट लेने की.दूध, चीज और योगर्ट कैल्शियम का बहुत बड़ा स्रोत है वहीं दूसरी ओर अनाज और मीट में प्रचूर मात्रा में फॉसफोरस पाया जाता है. विटामिन D के लिए आप सुबह-सुबह सूरज की किरणों के तेज में थोड़ी देर बैठ सकती हैं या फिर विटामिन D की दवाइयां भी ले सकती हैं. खान-पान में प्रोटीन शामिल करने से Enamel और भी अच्छे से बनता है.

    प्रेग्रनेंसी के दौरान ऐसा तो बिलकुल न करें

    डॉक्टर सिंह ने प्रेग्नेंसी के दौरान महिला को कोई भी Antibiotics और Pain Killer न लेने की बात कही है क्योंकि ऐसा करने से बच्चे की दांतों की बनावट भी बिगड़ सकती है. साथ ही उनका यह भी कहना है कि प्रेग्नेंसी के चलते महिलाओं को Platting भी नहीं करवानी चाहिए क्योंकि इससे अंदर ही अंदर बहुत जोर पड़ता है और बच्चे के दांतों के नीले होने का खतरा ज्यादा रहता है. बच्चे के पैदा होने के 6 से 9 महीने के अंदर दांत नजर आने लगते हैं और उस वक्त हर माता-पिता को अपने बच्चे के मसूड़ों को Sterelised Cotton से साफ जरूर करते रहना चाहिए.डॉक्टर के अनुसार बच्चे जैसे ही खाना शुरू करें तो उन्हें भी जरूरत होती है भरपूर मात्रा में कैल्शियम, फॉसफोरस और प्रोटीन डाइट लेने की ताकि दांतों का Growth and Development सही रहे.

    इतने उम्र से कम बच्चों को न दें ये टूथपेस्ट

    डॉक्टर एस.के.सिंह ने यह भी बताया है कि पानी में मौजूद Floride का लेवल भी दांतों के अच्छा या बुरा साबित होता है. अगर यह 1.2 ppm (part per million) से ज्यादा होता है तो उस पानी का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए. जिस पानी में 0.7mg से लेकर 1.12mg तक की Floride की मात्रा होती है, वही पानी पीने योग्य होता है. पानी में इससे ज्यादा मात्रा में Floride का शामिल होना बच्चे को Flourosis का शिकार बनाता है जिससे दांत दिखते तो सही हैं पर बहुत कमजोर होते चले जाते हैं. दो साल से नीचे के बच्चों को फ्लोराइड का टूथपेस्ट भी नहीं देना चाहिए क्योंकि उनमें निगल लेने की आदत होती है और यह न केवल दांतों को बल्कि हड्डियों को भी नुकसान पहुंचाता है.

    ब्रेस्टफीड के बाद ये चीज जरूर करें

    रात में ब्रेस्ट फीड करवाने के बाद, कोई भी चिपचिपी चीज खाने-खिलाने के बाद, जंक फूड, चॉकलेट या चीनी की चीजें खाने के बाद डॉक्टर्स हमेशा ब्रश करने की सलाह देते हैं. अंत में उन्होंने यही बताया है कि एक संतुलित आहार और प्रॉपर सुबह-शाम ब्रश करना साथ ही चबाने वाली चीजें ज्यादा खाना मजबूत दांतों के लिए बेहद जरूरी है.

    क्‍या ये स्टोरी आपको पसंद आई?

Advertisment

ज़ायके का सबसे बड़ा अड्डा

पकवान गली में आपका स्‍वागत है!

आप हर वक्‍त खाने-खिलाने का ढूंढते हैं बहाना तो ये है आपका परमानेंट ठिकाना. कुछ खाना है, कुछ बनाना है और सबको दिखाना भी है, लेकिन अभी तक आपके हुनर और शौक को नहीं मिल पाया है कोई मुफीद पता तो आपकी मंजिल का नाम है पकवान गली.


ज़ायका ही आपकी जिंदगी है तो हमसे साझा करें अपनी रेसिपी, कुकिंग टिप्‍स, किसी रेस्‍टोरेंट या रोड साइड ढाबे का रिव्‍यू.

रेसिपी फाइंडर

या
कुछ मीठा हो जाए